फेसबुक स्टेटस


बदल गई है रंगत जमाने की जनाब … आजकल वही अनजान बनते हैं जो सब कुछ जानते हो,।


मेरी बदमाशी का अंदाज़ा इससे लगाओ जब मैं शरीफ था तब भी लोग मुझे बदमाश ही कहते थे


मैं अपने दुश्मनों को कुत्तों की तरह समझता हूँ जब भी भौंकते है मैं रोटी डाल आता हूँ


बदला तो वो लेते है जिनका दिल छोटा होता है, हम तो माफ़ करके दिल से निकाल देते है


जब इंसान सफल होने लगता है,
तब इंसान खुश नही होते हैं,
बल्कि जलने लगते हैं।


बड़ा नाम, बढ़ती पहचान, बढ़ती दुश्मनी सब कुछ है मेरे पास


जब कोई आपसे नफरत करने लग जाए तो समझ लीजिए वो आपका मुकाबला नहीं कर सकता


बहुत दर्द देती है वो सजा,
जो बिना खता के मिली हो।


किसी ने कहा दुनिया प्यार से चलती है,
किसी ने कहा दुनिया दोस्ती से चलती है,
लेकिन हमने जब आजमाया तो ये दुनिया मतलब से चलती है।


किसी भी रिश्ते को कितनी भी खूबसूरती से क्यों ना बांधा जाए, अगर नज़रों में इज्जत और बोलने में लिहाज न हो तो वह टूट जाता है़..!


तेरा ख्याल दिल से मिटाया नहीं अभी, बेवफा मैंने तुझ को भुलाया नहीं अभी।


वो जमाने में यूँ ही बेवफा मशहूर हो गये दोस्त, हजारों चाहने वाले थे किस-किस से वफ़ा करते ।


मुझे इश्क है बस तुमसे नाम बेवफा मत देना, गैर जान कर मुझे इल्जाम बेवजह मत देना, जो दिया है तुमने वो दर्द हम सह लेंगे मगर, किसी और को अपने प्यार की सजा मत देना।


रिश्ते भले ही कम ही बनाओ लेकिन दिल से निभाओ,
क्योंकि आज कल इंसान अच्छाई के चक्कर में अच्छे खो देते है।


जहाँ दरिया कहीं अपने किनारे छोड़ देता है, कोई उठता है और तूफाँ का रुख मोड़ देता है, मुझे बे-दस्त-ओ-पा कर के भी खौफ उसका नहीं जाता, कहीं भी हादसा गज़रें वो मुझसे वे मुझसे जोड़ देता है।


जिम्मेदारियां भी एक इम्तेहान होती है,
जो निभाता है न उसी को परेशान करती हैं।


कभी उसने भी हमें चाहत का पैगाम लिखा था, सब कुछ उसने अपना हमारे नाम लिखा था, सुना है आज उनको हमारे जिक्र से भी नफरत है, जिसने कभी अपने दिल पर हमारा नाम लिखा था।


मौत से बेखबर, ज़िन्दगी का ये सफर


ज़ुबान साफ़ रखो कपड़े गन्दे हो तो चल भी जाएंगे


अब हम पतंग उड़ाने का नहीं लोग उड़ाने का शौक रखते हैं


मुझको क्या डराओगे मौत से मैं तो पैदा ही क़ातिलों की गली में हुआ हूँ


दुनिया को शराफत रास नहीं आती क्यूंकि लोग ऊँगली करने से बाज़ नहीं आते 


इस जिंदगी में कभी कुछ खत्म नही हो सकता,
आपकी शुरुआत करना ही सबसे बेहतर है।


कोई रोग होता तो इलाज भी करबा लेते,
वो तो इश्क की लत थी जो छूटी ही नही।



दर्द देते हो और खुद हि सवाल करते हो, तुम भी ओ सनम, क्या कमाल करते हो, देख कर पूछ लिया है हाल मेरा, चलो शुक्र है कुछ तो ख्याल करते हो।


किसी की ज़िन्दगी में रोड़ा नहीं “स्पीड ब्रेकर” बनो


शोर होता है मेरे चलने से फिर क्या फर्क पड़ता है किसी के जलने से


होता है तो होने दो मेरे कत्ल का सौदा, मुझे भी तो पता चले बज़ार में हमारी क़ीमत क्या है


मेरा वक़्त बदलेगा रुतबा नहीं, तेरी क़िस्मत बदलेगी औकात नहीं


अगर मैं औकात देखर दोस्ती करता तो तुम मेरे आस पास भी नहीं होते 


न जाने किस तरह का इश्क कर रहे है हम,
जिसके कभी हो ही नही सकते उसी के हो रहे है हम।


सबने अपनी औकात दिखा दी अब मेरा रुतबा देखने की बारी उनकी


मुझसे ना होगी गुलामी तेरी मेरे पिता ने मुझे शेरों में पाला है


मुझसे ना होगी गुलामी तेरी मेरे पिता ने मुझे शेरों में पाला है


कभी किसी की गोद में सिर रख कर मत सोना,
क्योंकि जब छोड़ कर जाता है तो रेशम के तखिये पर भी नींद नही आती।


सुकून मिल गया मुझको बदनाम होकर, आपके हर एक इल्जाम पे यूँ बेजुबान होकर, लोग पढ़ ही लेंगे आपकी आँखों में मेरी मोहब्बत, चाहे कर दो इन्कार यूँ ही अनजान होकर।


बिछड़ गए हैं जो उनका साथ क्या मांगू, ज़रा सी उम्र बाकी है इस गम से निजात क्या मांगू, वो साथ होते तो होती ज़रूरतें भी हमें, अपने अकेले के लिए कायनात क्या मांगू।


जो इंसान अपनी अपनी गलती मान ले,
तो सच में उन लोगो का प्यार कभी खत्म नही होता।


वादा करके निभाना भूल जाते है, लगा कर आग फिर वो बुझाना भूल जाते हैं, ऐसी आदत हो गयी है अब तो सनम की, रुलाते तो हैं मगर मनाना भूल जाते हैं।


आप हमारे पास तो रहोगे उम्र भर,
चाहे प्यार बन कर,
चाहे दर्द बन कर।


मेरे जनाजे में सारा शहर निकला,
लेकिन वो न निकला जिनके लिये हमारा जनाजा निकला।


जो भी दिल में हो साफ साफ कह देना चाहिये,
क्योंकि कहने से फैसले होते हैं,
और चुप रहने से फासले होते हैं।



हमने जिनके लिए अपनी दिल की धड़कने भी देदी,
और वो हमे अपना एक पल देने से पहले हजार बार सोचते हैं।


काश कहीं ऐसा होता वो लौट आते,
और हमसे कहते तुम होते कौन हो हमे छोड़ने बाले।


कमियाँ तो बहुत हैं मुझमें… साला कोई निकाल के तो देखे।


आँख उठाकर भी न देखूँ, जिससे मेरा दिल न मिले, जबरन सबसे हाथ मिलाना, मेरे बस की बात नहीं.!


किनारा न मिले तो कोई बात नहीं, दुसरो को डुबाके मुझे तैरना नहीं हे।


जहां Care मिलती है न,
वहाँ Love हो ही जाता है।


मुझे तू अपना बना या ना बना तेरी खुशी, तू जमाने में मेरे नाम से बदनाम तो है।


हसीं चेहरों के लिए आईने कुर्बान किये है, इस शौक में अपने बड़े नुकसान किये है, महफ़िल में मुझे गालियाँ देकर है बहुत खुश , जिस शख्स पर मैंने बड़े एहसान किये है।


हमारी हैसियत का अंदाज़ा, 
तुम ये जान के लगा लो,
हम कभी उनके नही होते, 
जो हर किसी के हो जाए।


खून में उबाल आज भी खानदानी है …. दुनिया हमारे शौक की नहीं Attitude की दीवानी है..!


बड़ी से बड़ी हस्ती मिट गयी मुझे झुकाने मे बेटा तू तो कोशिश भी मत करना तेरी उम्र गुजर जायगी मुझे गिराने मे..!


अजीब सी आदत और गज़ब की फितरत है मेरी, मोहब्बत हो या नफरत बहुत शिद्दत से करता हूँ।


कौन कहता है हम उसके बिना मर जायेंगे
हम तो दरिया है समंदर में उतर जायेंगे
वो तरस जायेंगे प्यार की एक बून्द के लिए
हम तो बादल है प्यार के किसी और पर बरस जायेंगे.


आज कतरा के गुजरते हुए पाया है तुझे, बेवफाई का हुनर किसने सिखाया है तुझे।



अगर हमें तेरी बदनामियों का डर न होता, न तू वेवफा कहती…. न मैं वेवफा होता।


मेरें अंदर कमी निकालने से पहले तुम ख़ुद की सारी कमियाँ खत्म करके दिखाओ।


मेरे घर वाले बोले सुधर जा पगले..। मैने बोला अगर हम सुधर गये तो उनका क्या होगा….! जिन्हें हमारी मस्ती प्यारी है


हम दुश्मनों को भी बड़ी शानदार सज़ा देते हैं, हाथ नहीं उठाते बस नज़रों से गिरा देते हैं।


मुझे खैरात में मिली ख़ुशियाँ अच्छी नहीं लगती, मैं अपने ग़मों में भी रहता हूँ नवाबो की तरह..।


मुझे ख़ुद को बेक़सूर सबित करने की आवश्यकता नहीं है क्योंकि मैं जानता हूँ कि मैं बेक़सूर हूँ।


सर झुकाने की आदत नहीं है,
आँसू बहाने की आदत नहीं है,
हम खो गए तो पछताओगे बहुत,
क्युकी हमारी लौट के आने की आदत नहीं है!


कदम तो यूँ ही लड़खड़ा गये वरना सम्भलना हम भी जानते थे
ठोकर भी लगी उस पत्थर से जिसे हम अपना खुदा मानते थे ।।


हम तो इतने रोमान्टिक है की हम अगर थोड़ी देर मोबाइल हाथ मै लेले.. तो वो भी गरम हो जाता है…!


उनकी नफरत बता रही है
हमारी मोहब्बत गज़ब की थी ।


प्यार इश्क मोहब्बत सब धोखेबाजी है… अपनी लाइफ में तो सिर्फ Attitude ही काफी है


ऐ खुदा किसी को किसी पर फिदा मत करना… अगर फिदा करना है तो कब्रस्तान तक जुदा मत करना


ऐ चाँद इतना मत चमक मैंने भी हजारों चाँद देखे है…. तुम पर तो दाग है मैंने तो बेदाग चाँद देखे है।


नजर अंदाज जितना करना है कर लो… अन्दाजा उस दिन का भी कर लो जिस दिन हम नजर नहीं आयेंगे


आँखों की झील से दो कतरे क्या निकल पड़े…. 
मेरे सारे दुश्मन एकदम खुशी से उछल पड़े



{दिल को छू जाने वाली कविता पढ़ने के लिए यहाँ Click करे}:-

{Breakup Status पढ़ने के लिए यहा Click करे}:-

{आँसू शायरी पढ़ने के लिए यहाँ Click करे}:-

{Attitude Status पढ़ने के लिए यहाँ Click करें}:-

{दोस्ती स्टेटस पढ़ने के लिए यहाँ Click करें}:-

{बेवफाई स्टेटस पढ़ने के लिए यहाँ Click करें}:-