ब्रेकअप स्टेटस

मुस्करा कर देखो तो सारा जहा रंगीन है … वर्ना भीगी पलकों से तो आईना भी धुधंला नजर आता है।।।


इंतजार रहता है हर शाम तेरा यादें कटती हैं ले-ले कर नाम तेरा मुद्दत से बैठे हैं ये आस पाले कि आज आयेगा कोई पैगाम तेरा


ये मत पूछ के एहसास की शिद्दत क्या थी… धूप ऐसी थी के साए को भी जलते देखा ….. बस तेरी यादों से ही है तारीफ मेरी … वर्ना ये सारा जहान तो मुझे अजनबी सा लगता है।


कदर करलो उनकी जो तुमसे बिना मतलब की चाहत करते है… दुनिया में ख्याल रखने वाले कम और…….. तकलीफ देने वाले ज्यादा होते है।।


क्या खूब मजबूरियाँ थी मेरी भी अपनी खशी को छोड़ दिया…. उसे खुश देखने के लिए


एक खूबसूरत सा रिश्ता यूँ खतम हो गया… हम दोसती नभाते रहे ओर उसे इश्क हो गया।।


जो बीत गया सो बीत गया… आने वाला सुनहरा कल है वो.. मैं कैसे भुला दूँ दिल से उसे … मेरी हर मुश्किल का हल है वो


चाह कर भी उनका हाल नहीं पूछ सकते डर है कहीं कह ना दे कि य़े हक तुम्हे किसने दिया।।।



आज सोचा कि .. कुछ तेरे सिवा सोचूँ….. अभी तक इसी सोच में हूँ कि क्या सोचूँ।।।


गया था मैं तुझसे दूर बहुत कुछ पाने के लिए… पर सिवाए तेरी यादों के कुछ हासिल ना हुआ।।।


जिनको साथ नहीं होता वो अक्सर रूठ जाया करते है।

तेरी बेरूखी ने छीन ली है शरारतें मेरी…. और लोग समझते है कि मैं सुधर गया हूँ।।।


वफाओं की महफिल लगेगी आज जरा…. वक्त पर आना मेहमान-ए-खास हो तुम।।


छोड़ दे तू मुझे गिला भी नहीं… मुझमें अब ओर कुछ बचा भी नहीं…. उसने बस यूँ कहा चले जाओ जल्दबाजी में … कि मैं रुका भी नहीं


हमे खो दोगे तो पछताओगे बहुत… ये आखरी गलती जरा सोच समझकर करना….


नहीं मिलेगा तुझे कोई हम सा… जा इजाजत है जमाना आजमा ले।।।


काश के वो लोट आये मुझसे ये कहने … कि तुम कौन होते हो मुझसे बिझड़ने वाले।।।


कितनी आसानी से कह दिया तुमने… बस अब तुम मुझे भूल जाओ. साफ-साफ लफ्ज़ों में कह दिया होता … कि बहुत जी लिये अब तुम मर जाओ…


वो बड़े ताज्जुब से पूछ बैठा मेरे गम की वजह…. फिर हल्का सो मुस्कराया ओर कहा मोहब्बत की थी नी……..।।


चले जायेंगे, एक दिन तुझे तेरे हाल पर छोड़कर…. कदर क्या होती है प्यार कि तुझे…. वक्त ही सीखा देगा।।।


जिनसे बेतहाशा मोहब्बत हो उनसे नाराजगी का ताल्लुक बहुत गहरा होता है यारो।।



मुझे मालूम है तुम बहुत खुश हो इस जुदाई से 
अब बस ख्याल रखना तुमको हम जैसे नहीं मिलेगा।।।



मोहब्बत मैं कुछ ऐसा कर जाना ही बनता है 
मैं जिन्दाहूँ मगर मेरा मर जाना बनता है


तेरा ख्याल सही है के वो खूबसूरत है 
मुझे हसीं यार से नहीं अपने जान से मोहब्बत है।।


जवानी में जनाजा उठने का मजा ही कुछ और है 
इनके भी आसूं आ जाते है जिनको हमारा जीना अच्छा नहीं लगता


मैं लोगों से मुलाक़ातों के लम्हें याद रखता हूँ
मैं बातें भूल भी जाऊं पर लहज़े याद रखता हूँ
जरा सा हट के चलता हूँ ज़माने की रवायत से
जो सहारा देते हैं वो कन्धे हमेशा याद रखता हूँ



ये मोहब्बत के हादसे अक्सरदिलों को तोड़ देते हैं ! तुम मंजिल की बात करते हो लोग राहों में ही साथ छोड़ देते हैं !


कहा वफा मिलती है इन हसीं इंसानो मैं 
ये लोग बिगैर मतलब के तू खुदा को भी याद नहीं करते


भटकती फिरती है मोहब्बत हवस के नाम पर
दो रूहो का मिलन देखे जमाना बीत गया


हर धड़कन में एक राज़ होता है; बात को बताने का भी एक अंदाज़ होता है, जब तक ना लगे ठोकर बेवाफ़ाई की, हर किसी को अपने प्यार पर नाज़ होता है।


रस्मों रिवाज की जो परवाह करते हैं
प्यार में वो लोग गुनाह करते हैं
इश्क वो जुनून है जिसमें दीवाने
अपनी खुशी से खुद को तबाह करते हैं


दिल्लगी न हो जाये किसी से बस ये ख्याल रखना 
दिल तो गुजर जाते है खुदा की कसम रातें नहीं गरती


आदत नई हमे पीठ पीछे वार करने की
दो शब्द काम बोलते है पर सामने बोलते है


जिनकी याद में हम दीवाने हो गए, वो हम ही से बेगाने हो गए, शायद उन्हें तालाश है अब नये प्यार की, क्यूंकि उनकी नज़र में हम पुराने हो गए।



जो यहाँ से न जाता था कभी 
आज वो यहाँ से चला गया है ।


आदत नई हमे पीठ पीछे वार करने की
दो शब्द काम बोलते है पर सामने बोलते है।


मुझ को अब तुझ से भी मोहब्बत नहीं रही,
ऐ ज़िंदगी तेरी भी मुझे ज़रूरत नहीं रही,
बुझ गये अब उस के इंतेज़ार के वो जलते दिए,
कहीं भी आस–पास उस की आहट नहीं रही।


उपर वाला भी अपना आशिक है
इसिलीऐ तो किसिका होने नहि देता ।


उम्र छोटी है तो क्या, ज़िंदगी का हरेक मंज़र देखा है
फरेबी मुस्कुराहटें देखी हैं, बगल में खंजर देखा


कल क्या खूब इश्क़ से मैने बदला लिया
कागज़ पर लिखा इश्क़ और उसे ज़ला दिया।


मीठी रातो में धीरे से आ जाती है एक परी
कुछ खुसी के सपने लाती एक परी।



कहती है कि सपनो के सागर में डूब जाओ
भूल के सारे दर्द जल्दी से सो जाओ


जिंदगी की हक़ीकत सिर्फ इतनी होती है…
जब जागता है इंसान तो किस्मत सोती है….
इंसान जिस पर अपना हक़ खुद से ज्यादा समझता है…..
वो अमानत अक्सर किसी और की होती है।।।


लोग कहते हैं किसी एक के… चले जाने से जिन्दगी अधूरी नहीं होती,
लेकिन लाखों के मिल जाने से…. उस एक की कमी पूरी नहीं होती है


मुझे किसी के बदल जाने का गम नही ,
बस कोई था,
जिस पर खुद से ज्यादा भरोसा था !!


समझ न सके उन्हें हम,
क्योकि हम प्यार के नशे में चूर थे,
अब समझ में आया जिसपे हम जान लुटाते थे,
वो दिल तोड़ने के लिए मशहूर थे।



बिछड के मोहब्बत के फसाने याद रहते है 
उजड जाती है महफिल मगर चेहरे याद रहते है


क़दर करलो उनकी जो तुमसे बिना मतलब की चाहत करते हैं…..
दुनिया में ख्याल रखने वाले कम और तकलीफ देने वाले ज़्यादा होते है।।।।


यूही किसी की याद मे रोना फ़िज़ूल है,
इतने अनमोल आसू खोना फ़िज़ूल है
रोना है, तो उनके लिये जो हम पे निसार है,
उनके लिये क्या रोना जिनके आशिक़ हज़ार है!!


लोग कहते हैं किसी एक के चले जाने से  जिन्दगी अधूरी नहीं होती…..
लेकिन लाखों के मिल जाने से उस…… एक की कमी पूरी नहीं होती है.


बातें तो हम भी उनसे बहुत करना चाहते है,
पर ना जाने क्यूँ वो हमसे मुँह छुपाये बैठे है।


बहुत भीड है मोहब्बत के इस शेहेर में
एक बार जो बिछडा वापस नहीं मिलता।


ये मत पूछ के एहसास की शिद्दत क्या थी….
धूप ऐसी थी के साए को भी जलते देखा।।।।


हमारा अंदाज कुछ ऐसा है…
जब हम बोलते है बरास्ते है….
और जब खामोश होते है तो….
लोग तरसते है ।।


प्यार में सबसे बड़ा खुशनसीब वह…. जो झुक जाए
और सबसे बड़ा बदनसीब वह जो अकड़ जाए।।।


बस तेरी यादों से ही है तारीफ मेरी….
वर्ना ये सारा जहान तो मुझे अजनबी सा लगता है।।।।


मुझको छोडने की वजह तो बता जाते..
तुम हमसे बेजार थे या हम जैसे हजार थे।


मोहब्बत की आजतक बस दो ही बातें अधूरी रही….
इक मै तुझे बता नही पाया, और  दूसरी तूम समझ नही पाये ।।


मुझे खामोश देखकर इतना हैरान क्यों होते हो दोस्तों।
कुछ नहीं हुवा है बस, भरोसा कर के धोखा खाया है।