यादगार स्टेटस


दिन बीत जाते है सुहानी यादे बन कर
बाते रह जाती है कहानी बन कर
पर प्यार तो हमेशा दिल के करीब रहेंगे
कभी मुस्कान तो कभी आंखो का पानी बन कर।।


रात हुई जब शाम के बाद.. तेरीयाद आई हर बात के बाद. हमने खामोश रहकर भी देखा.. तेरी आवाज़ आई हर सांस के बाद।।।


दीमक ज़दा किताब थी यादों की ज़िन्दगी, 
हर वर्क खोलने की ख्वाहिश में फट गया।


हो जाओ गर तनहा कभी तो मेरा नाम याद रखना… मुझे याद हैं सितम तेरे , तू मेरा प्यार याद रखना।।।


अपनी आँखों को आँसू दिया करते हैं, 
जब नींद में तेरा नाम लिया करते हैं, 
पलक झपके तुम्हारी तो समझ लेना, 
हम तुझे याद किया करते हैं।


इन आँखों ने भी दम तोड़ दिया तेरे आने के एतबार में… मुझे याद है वादा फरोशी तेरी तू ये इंतज़ार याद रखना।।।


बंद रखते हैं जुबान लब खोला नहीं करते, 
चाँद के सामने सितारे बोला नहीं करते, 
बहुत याद करते हैं हम आपको लेकिन, 
अपना ये राज़ होंठों से खोला नहीं करते।


सकियाँ लेता है वजूद मेरा गालिब, नोंच नोंच कर खा गई तेरी याद मुझे।।


तुम्हे मैं याद करता हूँ तो खुद को भूल जाता हूँ…. हद-ए-बेबसी देखो न तुम मेरे न मैं अपना।।।


तेरे पास से जो गुजरे तो बेखुदी में थे हम, 
कुछ दूर जाके संभले तुझे याद करके रोये।


हमे जीने नही देती है ये गुजरी हुई यांदे ! हमसे भुलाई नही जाती ये बीती हुई बाते ! अब कैसे कहे हम तुमसे ऐ सनम तेरी बाते ! हमे हर पल याद आती है तेरी छोटी-छोटी बाते !!


नींद को आज भी शिकवा है मेरी आँखों से, मैंने आने न दिया उसको तेरी याद से पहले..!!


ये मत कहना कि तेरी याद से रिश्ता नहीं रखा; मैं खुद तन्हा रहा मगर दिल को तन्हा नहीं रखा।।


तेरी बेरुखी को भी रुतबा दिया जाता है, 
तेरी मोहब्बत का हर फ़र्ज़ अदा किया जाता है, 
न सोच कि भूल गया हूँ मैं तुझे, 
रोज खुदा से पहले तुझे याद किया जाता है।


सिलसिला आज भी वही जारी है 
तेरी याद, मेरी नींदों पर भारी है। 


ना दूर हमसे जाया करो, दिल तड़प जाता है, 
आपके ख्यालों में ही पूरा दिन गुज़र जाता है, 
पूछता है यह दिल एक सवाल आपसे, 
कि क्या आपको भी हमारा ख्याल आता है।


रोज सुबह उठता हूँ पत्थर सी आँखें लेकर, 
ये तेरी यादों की हवा मेरे अश्क़ सुखा देती है।


नया कुछ भी नहीं हमदम वही आलम पुराना है, 
तुम्हें भुलाने की कोशिश है तुम्हीं को याद आना है।


मैं जहाँ हूँ अभी तेरी यादों में हूँ 
जो गुजर रही मेरे बिन उन रातों में हूँ 
इधर उधर मुड़के न देखो हमें, 
नशा बन के अभी तेरी आँखों में हूँ।


जिंदगी ख़ाक न थी ख़ाक उड़ाते गुजरी, 
तुझसे क्या कहते तेरे पास जो आते गुजरी, 
दिन जो गुजरा तो तेरी किसी याद में गुजरा, 
रात आई तो कोई ख्वाब दिखाते गुजरी।




एक अजीब सी जंग छिड़ी है तेरी यादों को लेकर, 
आँखे कहती हैं सोने दे… दिल कहता है रोने दे।


तड़पते हैं, न रोते हैं, न हम फ़रियाद करते हैं, 
सनम की याद में हरदम खुदा को याद करते हैं, 
उन्हीं के इश्क़ में हम दर्द की फरियाद करते हैं, 
अब देखते हैं किस दिन हमें वो याद करते हैं।


जीना चाहते हैं मगर ज़िंदगी रास नहीं आती, 
मरना चाहते हैं मगर मौत पास नहीं आती, 
बहुत उदास है ये ज़िंदगी उसके बिना, 
उसकी याद भी तड़पाने से बाज नहीं आती।


आज भीगी है पलकें किसी की याद में, 
आकाश भी सिमट गया है अपने आप में, 
ओस कि बूदें ऐसी गिरी है जमीन पर, 
मानो चाँद भी रोया हो उसकी याद में।



तेरे गम में भी नायाब खजाना ढूँढ लेते हैं, 
हम तुम्हें याद करने का बहाना ढूँढ लेते हैं।



याद आती है तो याद में खो लेते हैं, 
आँसू आँखों में उतर आयें तो रो लेते हैं, 
नींद तो नहीं आती आँखों में लेकिन, 
आप सपनों में आयेंगे इस लिए सो लेते हैं। 


नजरें उन्हें देखना चाहे तो आँखों का क्या कसूर, 
हर पल याद उनकी आये तो साँसों का क्या कसूर, 
वैसे तो सपने पूछकर नहीं आते, 
पर सपने उनके ही आये तो हमारा क्या कसूर।


आँखों में कुछ अरमान दिया करते हैं, 
हम सबकी नींद चुरा लिया करते हैं, 
इतनी बार आप साँस भी न लेते होगे, 
जितनी बार हम आपको याद किया करते हैं। 


भूल न जाना अपनी वफ़ा की उन कसमों को, 
तोड़ न देना हमारे प्यार की उन रस्मों को, 
आप हमें याद करो या न करो कोई बात नहीं, 
बस याद रखना साथ बिताये उन लम्हों को।


कहेगा झूठ वो हमसे तुम्हारी याद आती है, 
कोई है मुन्तजिर कितना ये लहजे बोल देते हैं।


तुम्हारी यादों ने हमें इतना सताया है, 
देखें कहीं भी चेहरा तुम्हारा नजर आया है, 
वो तेरी मासूमियत वो तेरा भोलापन, 
इन्ही अदाओं से ही तो दिल भर आया है। 


तुम भूल कर भी याद नहीं करते हो कभी, 
हम तो तुम्हारी याद में सब कुछ भुला चुके।


ज़िंदगी कुछ अधूरी सी लगे तेरे प्यार के बिना, 
मुनासिब नहीं है जीना अब तेरे साथ के बिना, 
छोड़कर तेरी चाहत पराई लगे ये दुनिया सारी, 
दिल ने सीखा नहीं धड़कना तेरी याद के बिना। 

मुझे मार ही न डाले ये बादलों की साजिश, 
ये जब से बरस रहे हैं मुझे तुम याद आ रहे हो।


किसी की यादों में बसना.. आसान नहीं ए_जनाब … कुछ ऐसाकर जाना… कियादें भी अपने काबिलसमझें।।


मेरे दिल की मजबूरी को कोई इल्जाम न दे, 
मुझे याद रख बेशक मेरा नाम न ले, 
तेरा वहम है कि मैंने भुला दिया तुझे, 
मेरी एक भी साँस ऐसी नहीं जो तेरा नाम न ले।


हमसे दूर जाओगे कैसे, 
दिल से हमें भुलाओगे कैसे, 
हम वो खुशबू हैं जो साँसों में बसते हैं, 
भला साँसों को रोक पाओगे कैसे।


गम ने हसने न दिया ज़माने ने रोने न दिया.. इस उलझन ने चैन से जीने न दिया…. थक के जब सितारों से पनाह ली… तो तेरी याद ने सोने न दिया।।



मेरे जाने का तू अब कोई ग़म न करना, 
अपनी खूबसूरत आँखों को नम न करना, 
मेरे अरमान तो मेरे दिल में ही जल गये, 
मेरी यादों को दिल से कम न करना।


कभी फुर्सत मिले तो याद कर लेना, हम तो एक हिचकी से भी खुश हो जाएंगे


मेरी यादो मे तुम हो, या मुझ मे ही तुम हो, मेरे खयालो मे तुम हो, या मेरा खयाल ही तुम हो, दिल मेरा धडक के पूछे, बार बार एक ही बात, मेरी जान मे तुम हो, या मेरी जान ही तुम हो


जीने को कोइ बहाना बता दो… तेरी याद में रोज़ मरती हूँ मैं…।।


दिन बीत जाते है सुहानी यादे बन कर
बाते रह जाती है कहानी बन कर
पर प्यार तो हमेशा दिल के करीब रहेंगे
कभी मुस्कान तो कभी आंखो का पानी बन कर।


याद रखने के लिए आपकी कोई चीज चाहिए, आप नहीं तो आपकी तस्वीर चाहिए।। आपकी तस्वीर हमारा दिल बहला न सकेगी क्योकि वो आपकी तरह मुस्कुरा न सकेगी।।


मैं शिकायत करूँ तो क्यों करूँ , ये तो किस्मत की बात है.. तेरी सोच में भी नहीं मैं, और तू मुझे लफ्ज़ लफ्ज़ याद है।।


जरूरी काम है लेकिन रोजा़ना भूल जाता हूँ, मुझे तुम से मोहब्बत है बताना भूल जाता हूँ, तेरी गलियों में फिरना इतना अच्छा लगता है, मैं रास्ता याद रखता हूँ ठिकाना भूल जाता हूँ।


मुस्कुराती आँखों से अफ़साना लिखा था, शायद आपका मेरी ज़िन्दगी में आना लिखा था.. तक़दीर तो देखो मेरे आँसू की उसको भी.. तेरी याद मे बह जाना लिखा था।।


वादो से बंधी जंजीर थी जो तोड दी मैँने
अब से जल्दी सोया करेंगे , मोहब्बत छोड दी मैँने।।


दुआ कौन सी थी हमे याद नही बस इतना याद है… दो हथेलियाँ जुड़ी थी एक तेरी थी एक मेरी थी..।।


हम कोई तर्क_ए वफ़ा करते हैं… तू ना सही तेरी याद ही सही।।।


सांस को बहुत देर लगती है आने में… हर सांस से पहले तेरी याद आ जाती है।।।


मुझे याद है तो इतना तेरी जुस्तजू में था… मैं मगर उसके बाद तो बस कहीं ख़ुद ही खो गया मैं।।।


कभी फुर्सत मिले तो याद कर लेना, हम तो एक हिचकी से भी खुश हो जाएंगे।


यूँ चाँद भी तन्हा है, चांदनी के बगैर.. मेरा दिल भी तन्हा है तेरी याद के बगैर।।


मेरी यादो मे तुम हो, या मुझ मे ही तुम हो, मेरे खयालो मे तुम हो, या मेरा खयाल ही तुम हो, दिल मेरा धडक के पूछे, बार बार एक ही बात, मेरी जान मे तुम हो, या मेरी जान ही तुम हो


Agar Thak Jaao Kabhi Toh Humse Kahna
Hum Utha Lenge Tumko Apni Baahon Mein
Aap Ek Baar Pyar Karke Toh Dekho Humse
Hum Khusiyan Bichha Denge Aapki Raahon Mein



याद रखने के लिए आपकी कोई चीज चाहिए, आप नहीं तो आपकी तस्वीर चाहिए आपकी तस्वीर हमारा दिल बहला न सकेगी क्योकि वो आपकी तरह मुस्कुरा न सकेगी।


Chaahat Ke Yeh Kaise Afsane Huye
Khud Nazron Mein Apni Begane Huye
Kisi Bhi Riste Ka Khayal Nahi Mujhe
Ishq Mein Tere Is Kadar Diwaane Huye


अब हिचकियाँ आती हैं तो पानी पी लेते हैं… ऐ दोस्तों, . . ये वहम छोड़ दिया है कि कोई याद करता है..


ख्यालो का क्या है, आते है चले जाते है…. इलाज तो यादों का होना चाहिए….!!!


याद करने से किसी का दीदार नहीं होता, यूँही किसी को याद करना प्यार नहीं होता। यादों में किसी की हम भी तड़पते है, बस हमसे दर्द का इजहार नहीं होता।


Mana Hum Haalaat Se Majbur Rehte Hai
Phir Bhi Tere Khayalon Me Chur Rehte Hai
Aakhon Mein Rehti Hai Tasveer Tumhari
Kya Hua Jo Hum Tumse Door-Door Rehte Hai


किसी के प्यार को पा लेना ही मोहब्बत नही होती 
किसी के दूर रहने पर उसको पल पल याद करना भी मोहब्बत होती है 


बस रिश्ता ही तो टूटा है मोहब्बत तो आज भी हमे उनसे ही है 


जहर से अधिक खतरनाक हैं यह प्यार 
जो भी चख ले मर मर के जीता हें


मोहब्बत कैसी भी हो कसम से
सजदा करना सिखा देती है


प्यार मोहब्बत आशिकी.ये बस अल्फाज थे.
मगर.. जब तुम मिले तब इन अल्फाजो को मायने मिले


ना जाने मुहब्बत में कितने अफसाने बन जाते है
शमां जिसको भी जलाती है वो परवाने बन जाते है
कुछ हासिल करना ही इश्क कि मंजिल नही होती
किसी को खोकर भी कुछ लोग दिवाने बन जाते है


मोहब्बत की आजमाइश दे दे कर थक गया हूँ ऐ खुदा.
किस्मत मेँ कोई ऐसा लिख दे.जो मौत तक वफा करे.


Main Khush Hun K Koi,  Meri Baat To Karta Hai. Bura Kahta Hai To Kya, Wo Yaad To Karta Hai.



क्या खूब होता जो यादें भी रेत होती…. मुट्ठी से गिरा देते पाँवों से उड़ा देते.!!


आखिर थक हार के, लौट आया मै बाज़ार से… यादो को बंद करने के ताले कही मिले नही


अब हिचकियाँ आती हैं तो पानी पी लेते हैं… ऐ दोस्तों, . . ये वहम छोड़ दिया है कि कोई याद करता है..


ख्यालो का क्या है, आते है चले जाते है…. इलाज तो यादों का होना चाहिए….!!!


रात हुई जब शाम के बाद…. तेरी याद आई हर बात के बाद,, हमने खामूश रहकर भी देखा…. तेरी आवाज़ आई हर साँस के बाद।।


जब याद आती है आपकी तो मुस्कुरा लेते हैं, 
कुछ पल के लिए गम भुला लेते हैं, 
कैसे भीग सकती हैं आपकी पलकें, 
जब आपके हिस्से के आँसू हम बहा लेते हैं।


एक नजर डाले :-

{दिल को छू जाने वाली कविता पढ़ने के लिए यहाँ Click करे}:-

{Breakup Status पढ़ने के लिए यहा Click करे}:-

{आँसू शायरी पढ़ने के लिए यहाँ Click करे}:-

{Attitude Status पढ़ने के लिए यहाँ Click करें}:-

{दोस्ती स्टेटस पढ़ने के लिए यहाँ Click करें}:-

{बेवफाई स्टेटस पढ़ने के लिए यहाँ Click करें}:-