शुभरात्रि स्टेटस


आकाश के तारों में खोया है जहाँ सारा.. लगता है पियारा एक एक तारा… उन तारों में सबसे पियारा है एक सितारा…. जो इस वक्त पढ़ रहा है SMS हमारा।।


आप जो सो गए तो ख्वाब हमारा आयेगा… पियारी सी मुस्कान चहेरे पर लायेगा… खिड़की दरवाजे दिल के खोल कर सोना… आप ही बताओं हमारा ख्वाब कहाँ से आयेगा।।


एक जैसे दोस्त सारे दोस्त नहीं होते… कुछ हमारे होकर भी हमारे नहीं होते… आपसे दोस्ती करने के बाद महसूस हुआ कौन कहता है तारे जमीं पर नहीं होते।।


रोत खामोश है चाँद भी खामोश है… पर दिल में शोर हो रहा है कही ऐसा तो नहीं. … प्यारा सा दोस्त बिना… गुड नाईट कहे सो रहा है।।


आँखें भी मेरी पल्कों से सवाल करती है… हर वक्त आपको ही याद करती है…. जब तक न कह दे शुभ रात्रि आपको जालिम… सोने से भी इन्कार करती है।।


हम अपनों से खफा हो नहीं सकते.. प्यार के रिश्ते बेवफा हो नहीं सकते… तुम हमें भुला कर भले ही सो जाओ.. हम तुम्हे याद किये बिना सो नहीं सकते.।।।



जाने उस शख्स को कैसे ये हुनर आता है.. रोत होती है तो आँखों में उतर आता है… मैं उसके ख्यालों से बच के कहाँ जाऊँ.. वो मेरी सोच के हर रस्ते पर नजर आता है।।


रात घुम्सुम है मगर चाँद खामोश नहीं…. कैसे कह दूँ मुझे होश नहीं… ऐसे डूबा तेरी आँखों की गहराई में आज… हाथ में जाम है मगर पिने का होश नहीं।।।।


चारों तरफ है फैली मून लाईट … मच्छर भी देने को बेताब है आपको लव बाईट… तकिया गले लगा के सोने का टाईट … अरे यार बोलो तो स्वीट ड्रीम वाली गुड नाईट


रातों को रात का तोहफा नहीं देते.. फूल को फूल को तोहफा नहीं देते… देने को हम आपको चाँद भी दे सकते है… लोकिन चाँद को चाँद का तोहफा नहीं देते।


चाँद ने चाँदनी बिखेरी है, तारों ने आसमान को सजाया है… कहने को तुम्हें शुभरात्रि… देखों स्वर्ग से कोई फरिश्ता आया है। । शुभरात्रि ।


मीठी-मीठी यादों को दिल में सजा लेना.. साथ गुजारे पल को पलकों में बसा लेना.. दिल को फिर भी न मिले सुकून तो…. मुस्कुरा के मुझे अपने सपनों में बुला लेना
। शुभरात्रि ।



सितारों को भेजा है आपको सुलाने के लिए… चाँद आया है आपकों लोरी सुनाने के लिए…… सो जाओं मीठे ख्वाबों में आप…. सुबह सूरज को भेजेंगे आपको जगाने के लिए
। शुभरात्रि ।


हर सपना कुछ पाने से पूरा नहीं होता… कोई किसी के बिन अधुरा नहीं होता….. जो चाँद रौशन करता है रात भर सब को…. किसी रात वो भी तो पूरा नहीं होता।।।
। शुभरात्रि ।


मिलने आयेंगे हम आपसे ख्वाबों में… ये जरा रौशनी के दिये बुझा दीजिए… अब नहीं होता इंतजार आपसे मुलाकात का…. ज़रा अपनी आँखों के परदे तो गिरा दीजिए….
। शुभरात्रि ।


जैसे चाँद का काम है रात में रौशनी देना…. तारों का काम है सारी रात चमकते रहना…. दिल का काम है अपनों की याद में धड़कते रहना…… हमारा काम है आपकी सलामती की दुआ करते रहना।।।
। शुभरात्रि ।


कितनी जल्दी ये शाम आ गई…. गुड नाइट कहने की बात याद आ गई….. हम तो बैठे थे सितारों की महफिल में, चांद को देखा तो आपकी याद आ गई…….
। शुभरात्रि ।


इस कदर हम उनकी मोहब्बत में खो गए…. कि एक नज़र देखा ओर बस उन्ही के हो गए… आँख खुली तो अँधेरा था…. देखा एक सपना था….. आँख बन्द की ओर उन्हीं सपनों में फिर खो गए…
। शुभरात्रि ।



जब भी आपके बिना रात होती हैं…. तब दीवारों से अक्सर बात होती है…. सन्नाटा पूछता है हमारा हाल हमसे…. तो आपके नाम से ही शुरुआत होती है।।
। शुभरात्रि ।


ये रात चाँदनी बनकर आँगन में आये…. ये तारे लोरी गा कर आपको सुनाएं… आयें आपको इतने प्यारे सपने यार… की नींद में भी आप हल्के से मुस्कुराएं।।।
। शुभरात्रि ।



एक नजर डाले:-

{Breakup Status पढ़ने के लिए यहा Click करे}:-

{आँसू शायरी पढ़ने के लिए यहाँ Click करे}:-

{Attitude Status पढ़ने के लिए यहाँ Click करें}:-

{दोस्ती स्टेटस पढ़ने के लिए यहाँ Click करें}:-

{बेवफाई स्टेटस पढ़ने के लिए यहाँ Click करें}:-