सफलता की कहानीयाँ



जीवन में बड़ी सफलता कैसे पाएं?

दुनिया में प्रत्येक सफल व्यक्ति सफलता प्राप्त करने के लिए लक्ष्य बनाता है। एक लक्ष्य में सफलता मिलने के बाद वह तुरंत दूसरा लक्ष्य बनाता है और फिर उसे पाने के लिए Hard work करने लगता है।

लेकिन कभी-कभी लक्ष्य इतना बड़ा होता है कि उसे पाने के लिए मेहनत के साथ ही साथ काफी समय  भी लगता है। एक लम्बा समय और अधिक मेहनत लगने के कारण कुछ लोग ऐसे बड़े लक्ष्यों को बनाते ही नहीं है और यदि बनाते भी हैं तो बीच रास्ते में ही बोर होकर या असफलता के डर से या धैर्य और आत्मविश्वास कम होने के कारणउसे छोड़ देते हैं।

लेकिन यह भी सत्य है कि बड़े लक्ष्यों से ही बड़ी सफलता प्राप्त होती है।—

:- ऐसे लक्ष्यों को कैसे प्राप्त किया जाये जिनमे बहुत मेहनत करनी पड़ती है???दोस्तों! आज मैं आपको ऐसे ही लक्ष्यों को प्राप्त करने के एक सबसे अच्छे तरीके के बारे में बताऊंगा जिसे दुनिया के लगभग सभी सफल व्यक्ति अपनाते हैं।

नवीन नाम का एक बच्चा था जिसने Class 6th को पास किया था और क्लास 8th में उसने Study शुरू कर दी थी। लेकिन तभी उसके पिता, जो एक Officer थे, उनका Transfer किसी दूसरे City में हो जाता है। अब कमल का Admission उस नए शहर के एक नए School में करा दिया जाता है।

एक शहर से दूसरे शहर में Settle होने में समय लगने के कारण नवीन की पढ़ाई Regular नहीं हो पायी और जब उसका Admission एक New school  में कराया गया तो उसके Exam होने में केवल 15 दिन का Time रह गया था। अब नवीन को पूरा Syllabus केवल 15 दिनों में पूरा करना था वरना नवीन Exam में Fail हो जाता।

अब नवीन के सामने एक बड़ा लक्ष्य था जो उसे केवल 15 दिन में पूरा करना था। नवीन की माँ इस बात को लेकर काफी परेशान थी। उन्होंने नवीन की इस समस्या को उसके एक Teacher  को बताया और कोई अच्छा सा Solution बताने को कहा। तब Teacher ने नवीन की माँ को इस समस्या को हल करने का एक तरीका बताया।

अब Teacher द्वारा बताये गए तरीके के अनुसार नवीन की माँ ने उसके Syllabus को देखा जिसमे लगभग 150 प्रश्न थे जिनके उत्तर कमल को याद करने थे। नवीन की माँ को पता था कि नवीन से यह कहा जाये कि उसे 15 दिन में 150 Questions के Answer याद करने हैं तो वह मना कर देगा और फेल हो जायेगा, चाहे उसे इसके बदले में कितना भी बड़ा Gift देने को कहा जाये।

अब नवीन की माँ ने उसके 150 Questions को 15 दिनों के हिसाब से 15 भागों में बांट दिया। अब नवीम की माँ नवीन से बोलीं कि अगर वह एक दिन में 10 Questions को Solve कर लेता है तो उसे एक बड़ी Chocolate मिलेगी। नवीन तुरंत राजी हो गया और उसने एक दिन में 10 Questions के Answer याद कर लिए।

नवीन को उसी दिन एक Big Chocolate मिली। नवीन बहुत खुश हुआ और कहने लगा कि अगर वह कल भी 10 Questions के उत्तर याद करे तो फिर उसे ऐसी ही बड़ी चॉकलेट मिलेगी?

उसकी माँ ने तुरंत “हाँ” कह दिया। अब तो नवीन पूरा मन लगाकर रोज 10 Answers याद कर लेता और उसे उसी दिन एक चॉकलेट मिलती।इसे भी

नवीन रोज ख़ुशी से याद भी करता और Chocolate भी पाता था। अब Exam से एक दिन पहले ही उसे सभी Questions के Answer याद हो गए। इसका Result यह रहा कि नवीन अपनी कक्षा में First आया।

दोस्तों! नवीन की माँ ने नवीन के लिए अपनाया, अगर वही तरीका आप अपनी जिन्दगी में किसी भी बड़े लक्ष्य को पूरा करने में अपनाएं तो आप 100 % एक बड़ी सफलता कोहासिल करेंगे।



जीवन में कभी हार मत मानों

इस दुनिया में अरबों लोग हैं और सभी सफलता  प्राप्त करना चाहते हैं।बहुत से लोग ऐसे हैं जो सफलता के लिए शुरुआत ही नहीं करते लेकिन करोड़ों लोग ऐसे भी हैं जो सफलता को प्राप्त करने के लिए शुरुआत तो कर देते हैं लेकिन सफलता के रास्ते मेंकेवल दो कदम रखते ही जबएक छोटी सी problem सामने आ जाती है और अपना सीना तान लेती है तो कुछ लोग डर जाते हैं।

लेकिनआपको शायदपता होगा कि सफलता के रास्ते मेंयहजो सबसे पहली समस्या आपके सामने खड़ी होती है, वहीँ से सफलता की शुरुआत होती है और वहीँ से असफलता की भी शुरुआत होती है। यह निर्णय हमारा है कि हम किसे चुनते हैं।

By- Salman Ahamad

लेकिन बहुत से ऐसे लोग होते हैं जो इस समस्यासे डर जाते हैं, डर के कारण वहअपने कदम पीछे खींच लेते हैं और असफलहो जाते हैं।लेकिन आपको ऐसा नहीं करना है, आपको तो लगातार  सफलता के मार्ग पर चलते रहना है और अगर कोई समस्यासामने आये तो उसे मार भागना है…… कुछ भी हो, समस्या को जड़ से उखाड़कर फेंकते जाना है लेकिन हार नहीं मानना है।

{Hindi में Poetry पढ़ने के यहाँ click करे}:-

आइये अब मैं आपको एकखेल के मैदान के बारे बताताहूँ जिसमे आप हमेशाखड़े हुए हैंऔर तब से खड़े हुए हैं जब से आप इस दुनिया में आये हैं और तब तक खड़े रहेंगे जब तक आप चाहेंगे। यह दुनिया एक खेल का मैदान ही तो है और आप इसके एक खिलाड़ी हैं। अब जब आप खिलाड़ी हैं तो आपको जीतना है औरजीतने के लिए आपको खेलना होगा।

 आपको लगातार मैदान मेंडटे रहना है। और यदि आप जीवन के मैदान में डटे रहेंगे तो कोई भी आपको हरा नहीं सकता क्योकि जब तक आप मैदान में रहेंगे, हारे हुए नहीं माने जायेंगे।

यदि आप जीवन के इस मैदान में यदिएक बार फिसल भी जाओतो कोई फर्क नहीं पड़ता क्योकि आप मैदान में हैं…… उठिये और फिर से शुरू हो जाइये। अगर दूसरी बार गिर जाओ तो एक बार फिर उठिये …… तीसरी बार गिर जाओ तो एक बार फिर से उठ जाइये, और तब तक मैदान में डटे रहिये जब तक सफलता हासिल न हो जाये।

दोस्तों!सफलता एक मोती की तरह होती हैजिसे पाने के लिए समुंदर में गोता लगाना पड़ता है और गहराई में जाकर मोती के लिए प्रयास करना पड़ताहै। जरुरी नहीं कि एक बार में ही मोती मिल जाये, आपको तब तक समुंदर में गोता लगाकर उसकी गहराईयों में जाना है जब तक मोती न मिल जाये।

यदि असफल हो जाओ तो इसे एक चुनौती  के रूप में लो।क्याआपको पता है कि सफलता हमें मायूस करने नहीं आती, यह हमारे आत्मविश्वास  को तोड़ने नहीं आती बल्कि हमें यह बताने आती है कि कुछ कमी रह गई है, वह हमें कुछ नया सिखाने आती है , आप उस कमी को हटा तो और फिर से आगे बढ़ जाओ और यह सीख लो कि दोबारा वह गलती नहीं दोहरानी है जिसकी वजह से असफलतामिली।

यह बात अंदर कूट कूट कर भर लो किहार नहीं माननी है एक दिन ऐसा जरूर आएगा जब आपविजेता बन जायेंगेऔर सफलता का मोती  आपके हाथों में होगा और जिसकी चमक से यह पूरा संसार रोशन होरहा होगा।

आपने मोबाइल और लेपटॉप जरूर चलाया होगा? सोचियेयदि आपका mobile या laptop कुछ प्रॉब्लम करने लगे तो आप क्या करते हैं?उसे उठाकर फेंक देते हैं? नहीं……..! यदि आप समझदार हैं तो उसे refresh करते हैं और वह फिरसे सही से चलने लगता है।इसी प्रकारयदि आपका internet समस्या करे तो आप उसे reconnect करते हैं।

यही आपको अपने लक्ष्यl के साथ भी करना है।अनेकों समस्याओं और असफलताओं के चलते आपका आपके लक्ष्य के साथ कनेक्शन टूटने लगता है, तब हार मत मानो बल्कि खुद को रिफ्रेश करो और अपने लक्ष्य के साथ खुद को दोबारा reconnect करो।तबजिंदगी की picture एक बार फिर clear और smooth चलने लगेगी।

अब आप केवल और केवल एक बात सोचो। यह सोचो कि कोई व्यक्ति जीवन मेंअसफल क्यों होता है? सोचो! कुछ reply जरूर मिलेगा। कोई कहेगा कि सफलता केरास्ते में आने वाली समस्याओं के कारण असफलता हाथ लगती है तो कोई कहेगा कि परिस्थितियां विपरीत थी, कोई भाग्य (luck) को दोष देगा तो कोई किसी अन्य कारण को दोषी ठहरायेगा।

लेकिन इनमे से कोई भी बात सही नहीं है क्योकिदुनिया की किसीभी ताकत में इतना दम नहीं है कि वह आपको हरा सके, आप तभी हारेंगे जब आप हार मान लोगेऔर जब तक आप हार नहीं मानेंगे, जब तक आप मैदान में डटे रहेंगे तब तक आपके विजेता बनने की 100% संभावना हमेशा बनी रहेगी।

रिजल्ट यह है कि आपको कोई हरा नहीं सकता, जीवन केमैदान में डटे रहिये। जब तक आप मैदान में हैं, आप हंस सकते हैं, रो सकते हैं, भटक सकते हैं, सीख सकते हैं लेकिन बस डटे रहिये, मैदान मत छोड़िये, कभी हार मत मानिये

जिंदगी के मैदान में कभी प्रयास करना मत छोड़िये, बार-बार गिरो लेकिन फिर सेउठकरखड़े होजाओ…….. कभी हिम्मत मत हारना  …….. कभी अपना आत्मविश्वास मत खोना (Do not lose confidence), बस डटे रहना

{Love Stories पढ़ने के लिए यहाँ click करे}:-

आज अँधेरा है, हो सकता है कल यह अँधेरा और भी गहरा हो जाये लेकिन यह विश्वास कीजिये परसों उजाला जरूर होगा और तबयह अँधेरा दूर भाग जायेगा।

अंतिम सांस तक लड़ते रहो, पता नहीं कब वो पल आ जाये जिसका आपको बरसों से इन्तजार था, पता नहीं कब वो दिन आ जाये जब आप winner बन जाएं। ……… लगे रहो मेरे भाई! वो सफलता काएक दिन जरूर आएगी।

आपविजेता हो और सफलता आपका अधिकार है ………. विजेता हार नहीं मानता और जो हार मान जाये, वह कभी विजेता नहीं हो सकता।

आपको पता है कि इस दुनिया में सबसे मुश्किल काम क्या है?मैं बताता हूँ……… इस दुनिया का सबसे सबसे मुश्किल काम मैदान में डटे हुए खिलाड़ी को हराना है क्योकि जब तक वहमैदान में डटा हुआ है, उसे कोई नहीं हरा सकता। ……. उसके हारने की केवल और केवल एक ही संभावना है और वो यह है कि वह खिलाडी खुद हार मान ले।

{दिल को छू जाने वाले Sad Status पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करें}:-

कुछलो गकहते हैं कि इस दुनिया में चमत्कार नहीं होते …….. गलत कहते हैं …….. चमत्कार तो होते हैं ……..रोज होते हैं लेकिन यह चमत्कार केवल जादूगर ही कर पाते हैं और जादूगर वही है जो जीवन के मैदान में डटा हुआ है और जो मैदान छोड़ दे उसके जीवन में कभीकोई भी चमत्कार नहीं होता।

मेरे दोस्तों! जीवन के मैदान में एक कुशल खिलाड़ी की तरह डटे रहो, हो सकता है कि कोई असफलता मिल जाये लेकिन कोई भी एक असफलता आपके जीवन को असफल नहीं बना सकती, फिर से उठिये और ऐसी छलांग भरिये कि सारी दुनिया आपकी मुट्ठी में आ जाये।

इस पंक्ति को हमेशा ध्यान रखिये:

लहरों से डरकर नौका पार नहीं होती, कोशिश करने वालो की कभी हार नहीं होती।

————-*******————