Ek Gareeb Ladke Ki Love Story एक गरीब लड़के के प्यार की कहानी

कहते है कि मोहब्बत साफ है

पनपती है उस दिल में जो होता साफ है।

फिर बतायें ये मोहब्बत जान क्यूँ लेती है

अगर खुशनुमाईश का शहर हो तो इतने गम क्यूँ देती है।

ना हो यकीन तो मैं आपको एक कहानी सुनाता हूँ

ऐसी ही एक मोहब्बत की दास्तान आप सभी को सुनाता हूँ।

एक लड़का था जो शादियों में गाया बजाया करता था

एक दिन मिलेगा उसे कोई अपना ये सोचकर वो अपने मन को समझाया करता था।

वो हर रोज देखा करता था एक मजदूर की बेटी को

लगती उसको वो ऐसी जैसे की कोई आसमान से उतरी परी हो।

मन ही मन ये लड़का उस लड़की को चाहने लगा था

गाना बजाने बाले की दिल में खूद से ही प्यार का गीत बजने लगा था।

कुछ दिनों की तपस्या थी ओर फिर दुआ कबूल हो गई

बो लड़की देखते-देखते लड़के के सरूर में खो गई।

दोनों के हालात में कुछ ज्यादा फर्क नहीं था

बो एक चबूतरे जैसी थी लड़का जमीं था।

बस इतनी सी उचाँई कोन-सी बड़ी बात थी

लड़के के रूह मे शमा चुकी लड़की की जात थी।

बो सपने सजाया करता था लड़की के साथ उमर बिताने के लिए

लड़की भी हा में हा भरा करती थी उसे अपना बनाने के लिए।

एक दिन उसने सोचा की लड़की के पिता से उसका हाथ माँग ले

अब कुछ पल छूप-छूप कर ना मिले बल्कि लड़की के सारे दिन-रात मांग ले।

खूशी और जोश से भरा लड़का जब पहुँचा लड़की के घर

पैरो तले खिश्की जमीन जब लड़के को मिली उसके भाग जाने की खबर।

बो किसी अमीर के दिखाये सपनो में खो गई थी

प्यार को समझ कर छोटा बो पैसों की हो गई थी।

लड़के के दिल पर लगी इस बात ने उसके दिल पर बहुत गहरा असर किया था

रात रो-रो कर काटी और दिन तड़प-तड़प कर बसर किया था।

दिन, महिने, साल बितते चले गये

पुराने किस्से भी अब पिछे छुटते चले गये।

इतने सालों में लड़के के गम ने उसकी आवाज में  जान फूक दी थी

उसकी किस्मत तब पलटी तब, जब किसी संगीतकार ने उसकी आवाज सुनी थी।

लड़के को बस एक मौका मिला ओर उसकी दर्द भरी आवाज ने लोगों की दिल जीत लिया

अपने गम का उस लड़के ने खूब अच्छा इस्तमाल किया।

उस अनाथ के चाहने वालों की गिनती का कोई हिसाब नहीं था

मगर वो मर्जी का मालिक था अपनी, कोई कुछ भी लिख दे ऐसी किताब नहीं था।

उसने अपनी जिन्दगी में कभी किसी और को आने नहीं दिया

उस लड़की का ख्याल अपने दिल से कभी जाने नहीं दिया।

सोहरत पाना उसकी जिद थी

मगर जीना उसे गवारा न था

जीता भी किसके लिए

उसका कोई सहारा ना था।

वो लड़की आज उसके टी.वी पर देखकर घर सभाँलते हुए आशूँ बहा रही थी

उसने जल्दबाजी कर दी उसे पहचानने में… ये सोचकर पछता रही थी।

हर गम उस लड़को को छोड़ने का नहीं

बल्कि उसकी सोहरत देखकर हो रहा है

उसे क्या पता वो लड़का उसकी याद में आज भी रो रहा है।

3 Replies to “Ek Gareeb Ladke Ki Love Story एक गरीब लड़के के प्यार की कहानी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *