Muje Ab Bo Ignore Krne Lgi Hai मुझे अब बो अन्देखा करने लगी है।

मैंने उससे की है मोहब्बत लेकिन वो समझती कहा है

जो सब मैंने किया है कि उसके लिए, बो सब उसके लिए बेवजाह है।

आज भी लोखो लोग तरसते है सच्ची मोहब्बत पाने के लिए

लोग प्यार में नकाब बाँध कर बैठे है जिश्मों को फसाने के लिए।

ऐसी दुनिया में उसे जान से भी ज्यादा चाहता हूँ

मगर वो क्या चाहता है मैं येही नहीं समझ पाता हूँ।

कहती हो बो मुझसे की प्यार बहुत ज्यादा है

मगर मुझे ना जाने ऐसा क्यूं लगता है की उसका कुछ ओर ही इरादा है।

उसके पास नहीं रहता वक्त बातें करने के लिए

बो मुझे आवाज तक ना देगी अगर निकल जाऊँ मैं मरने के लिए।

मुझे अनदेखा करना जैसे उसकी आदत सी होने लगी है

जिस लड़की को मैंने किया था प्यार.. सच कहूँ तो वो लड़की कहीं खोने लगी है।

मैं दिल-लगी करता तो शायद उसे पसन्द आता

जब मेरा मन होता जब बात करता ओर जब चाहता तो भूल जाता।

शायद बो भी ऐसी ही रिस्ते को पसन्द करती है

हो सकता है ना रहना हो उसे साथ मेरे यह कहने से डरती है।

इस समय हम समुन्दर के किनारे बने हुए है

एक दुसरे से दूर किसी अगल ही दिशा में खड़े हुए है।

अब शायद ज्यादा दिन तक ना चले उसका ओर मेरा साथ

मैंने ही थाम रखा है वरना वो कब का छुड़ाना चाहती है मुझसे अपना हाथ।

मगर वो याद रखे इस बात को..की मझे छोड़कर उसे पछताना पड़ेगा

वो कहीं भी चली जाये उसे लोटकर मेरे पास ही आना पड़ेगा।

………………………………………………………………………….

One Reply to “Muje Ab Bo Ignore Krne Lgi Hai मुझे अब बो अन्देखा करने लगी है।”

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *