One Line Status



आसमां पे ठिकाने, किसी के नहीं होते, जो ज़मीं के नहीं होते, वो कहीं के नहीं होते।


जो बेहतर होता है उसे ईनाम मिलता है, जो बेहतरीन होता है उसके नाम पर ईनाम होते हैं।


कोई तो है जो हमे दुआ मे माँग रहा है, वरना ऐसेही थोडी हम ‪Single है


ज़िन्दगी की हर शाम हसीन हो जाए….,
अगर मेरी मोहब्बत मुझे नसीब हो जाये


मूँछ पे ताव, आँख में शोले, फिर भी अनुशासन में रहता हैं,
तो समझ लेना ठाकुर साहब हैं वो, सर ज़माना कहता हैं।।


कमाल के लोग हैं..

टाइम किसी के पास नहीं है…., 
लेकिन टाइम पास सब कर रहे है।


एक शख्श इस तरह मेरे दिल में उतर गया
जैसे वो जानता था..मेरे दिल के सारे रास्ते


पूरी उम्र सीख न सके जो किताबे पढ़कर,
करीब से कुछ चेहरे पड़े, तो न जाने कितने सबक सीख लिए


जो लड़कियाँ मुझे Bad Boy कहती है,
शायद उन्हें ये नही पता की शहजादे कभी सुधरे हुए नही होते।


आँखों से बरसे पानी, ये कोई बादल है क्या
मैं तेरे लिये रोऊँ, अबे तू पागल है क्या..।।।


सुन #Hero मुझ से पंगा जरा सोच समझ कर लेना क्योंकि मैं #Cute हूँ, पर #Mute नही


शादी के बाद अफेयर होना अब गलत नहीं माना जायेगा,
मज़ा तो तब आयेगा इस जज की बीवी के साथ कमरे में कोई और पाया जायेगा


ओये #Hero सुन जितनी तेरी #Style नवाबी है, उतने ही मेरे #गाल गुलाबी हैं


एक लड़की‬ आकर बोलती है, मुझे आपसे मिलना है,
मैने बोला ये ले पगली टोकन और लाइन मे लगजा


कोई अगर आपको पत्थर मारे,
तो उसका जवाब फूल से देना चाहिए : महात्मा गांधी

पर वो फूल उसकी क़ब्र पर होना चाहिए : पठान


इतना #Attitude मुझे मत दिखा ऐ पगली‬,
जिस पाऊडर से तू #Makeup ‪करती‬ है,
उस पाऊडर से तो हम कैरम खेला करते है


तुजे क्या लगा तु छोड के चली जाएगी
तो मैं मर जाऊंगा
घंटा लडकी है तु ओक्सीजन नही


कोई नहीं हैं दुश्मन अपना, फिर भी परेशान हूँ मैं,
अपने ही क्यों दे रहे हैं जख्म, इस बात से हैरान हूँ मैं।


“नजर‬ झुका के बात कर #‪पगली‬,
जीतने तेरे पास ‪कपडे‬ नही होंगे,
‪उतने‬ तो मैं रोज ‪लफडे‬ करता हुं ।”


बुझ गया है तेरे हुस्न का हुक्का ऐ सनम
हम हैं कि फिर भी गुड़गुड़ाएँ जा रहे हैं।



यूँ असर डाला हैं मतलबी लोगो ने दुनिया पर,
हाल भी पूछो तो लोग समझते हैं. की कोई काम होगा।



जिस दिन ठान ली उस दिन सारी दुनिया का ईलाज कर देंगे,
जिस दिन आ गए बदमाशी पे, उस दिन ब्याज समेत हिसाब चुकता कर देंगे।



रेगिस्तान भी हरे हो जाते हैं,
जब अपने साथ अपने भाई खड़े हो जाते हैं।



नफरत कमाना भी आसान नहीं हैं इस दुनिया में,
बहुत सी खुबिया रखनी पड़ती हैं किसी की आँखों में खटकने के लिए।



आँखों से बरसे पानी, ये कोई बादल है क्या
मैं तेरे लिये रोऊँ, अबे तू पागल है क्या..।।।



हम तो दुश्मनी भी दुश्मन की औकात देखकर करते हैं
बच्चो को छोड़ देते हैं, और बड़ो को तोड़ देते हैं..।।।



उसने होठो से छू कर दरिया का पानी गुलाबी कर दिया,
हमारी तो बात और थी, उसने मछलियों को भी शराबी कर दिया।



यदि आप सही है तो, आपको गुस्सा होने की जरूरत नहीं.
और यदि आप गलत है तो, आपको गुस्सा होने का कोई हक नहीं।



लाश पता नही किस बदकिस्मत की थी, मगर
क़ातिल के पैरो के निशान बड़े हसीन थे ..।।



दिल में ‪जूनून और ‪आग ‪‎जैसी ‪जवानी चाहिए,
हम राजपूतों को, दुश्मन भी खानदानी चाहिए।



मगरमच्छ की पकड़ और राजपूतो की अकड़ जबरदस्त होती हे।



उसने होठो से छू कर दरिया का पानी गुलाबी कर दिया,
हमारी तो बात और थी, उसने मछलियों को भी शराबी कर दिया।



चलते चलते राह में उनसे पहली मुलाकात हुई,
वो कुछ शरमाई फिर सहम सी गई,
दिल तो हमारा भी किया कि कह दे उनसे
अपने दिल की बात…
पर कम्बखत इस दिल की इतनी हिम्मत ही न हुई.



तन्हा मौसम है और उदास ‪‎रात‬ है
वो मिल के बिछड़ गये ये ‪‎कैसी मुलाक़ात‬ है,
दिल धड़क तो रहा है मगर ‎आवाज़‬ नही है,
वो धड़कन भी साथ ले गये ‎कितनी अजीब‬ बात है!



खून मे #ऊबाल, वो आज भी हमारा #खानदानी है…,
दुनिया हमारे शौक की नहीं, हमारे तेवर की दिवानी है



तलवार बन्दूक से खेला करूं , मुझे डर नहीं चौकी – थाने का,
मैं छाती ठोक के कहता हूँ, मैं छोरा हूँ राजपूत घराने का !!



ग़रीब के क़र्ज़ जैसा है ये राजपुताना इश्क़ भी,
एक बार सिर चढ़ जाए तो, उतरता ही नहीं !!



राजपूत जब दोस्ती करते है तो अफ़साने लिखे जाते है,
और जब दुश्मनी करते है तो तारीखें लिखी जाती है !!



कहते हैं बुरा वक़्त सबका आता हैं,
कोई निखर जाता हैं, कोई बिखर जाता हैं।



सूरज जब पलके खोले, मन नमः शिवाय बोले,
मैं इस दुनिया से क्यों डरु, मेरे रक्षक है शिवशंकर भोले।



पापा की परछाई……माँ का लाडला……दोस्तों की शान,
बहनो की आन और गर्ल फ्रेंड की जान, यही तो है हमारी पहचान


इंसान सिर्फ आग से नहीं जलता,
कुछ लोग तो हमारे अंदाज से जल जाते हैं।



कौन कहता हैं की औरत केवल रसोई में शोभा देती हैं,
पधारो हमारे राजस्थान में,
बाईसा तलवार से धड़ अलग करना भी बखुबी जानती है।



शादी के बाद अफेयर होना अब गलत नहीं माना जायेगा,
मज़ा तो तब आयेगा इस जज की बीवी के साथ कमरे में कोई और पाया जायेगा



बुझ गया है तेरे हुस्न का हुक्का ऐ सनम
हम हैं कि फिर भी गुड़गुड़ाएँ जा रहे हैं।



सबको शादी जरूर
करनी चाहिए..
जिन्दगी में खुशियाँ ही
सब कुछ नही होती



नहाते हुए हाथ से गिरने वाले साबुन को दोबारा कैच
कर लेना भी किसी युद्धाभ्यास से कम नहीं है